Cylinder Head | सिलिंडर हैड क्या है?

परिचय (Introduction)

नमस्कार दोस्तो स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट todayenginner.com पर । इस पोस्ट के माध्यम से में आपको Cylinder Head सिलिंडर हैड क्या है ? स्पष्ट करुंगा ।

इंजन एक मशीन है जिसमें विभिन्न पार्टस लगे होते हैं इनके सुचारू रूप से चलने के लिए सभी पार्ट्स का महत्त्वपूर्ण योगदान है। जिससे कि इंजन लम्बे समय तक अपनी पूरी क्षमता के साथ चले।

इन सभी मुख्य पार्टस के विषय कार्य और होने वाली खराबी (दोष)के बारे में जानना आवश्यक है क्योंकि पार्ट्स के काम करने का ढंग व बनावट अधिकतर एक जैसी होती है चाहे वह एक सिलिण्डर हो, मल्टी सिलिण्डर हो या पैट्रोल या डीजल इंजन हो पेट्रोल व डीजल इंजन में अंतरफ्यूल सप्लाई और लोशन सिस्टम का होता है।

सिलिंडर हैड (Cylinder Head)

इंजन में इंजन ब्लॉक के ऊपरी भाग पर सिलिंडर हैड लगा रहता है। इसे स्टड असेंबली द्वारा सिलिंडर ब्लक द्वारा लगाया जाता है। सिलिंडर हेड में कम्बश्चन चैम्बर (cumbustion chamber) बना होता है इसमें फ्यूल इंजेक्टर होटर प्लग लगे होते हैं।

एयर कूल्ड इंजन के सिलिंडर हेड पर फिल्म होते हैं तथा वाटर कूल्ड इंजन के सिलिंडर हैड में कूलिंग वाटर बहने के लिए पैसेज बना सिलिंडर हैड ग्रेकास्ट आयरन या एल्यूमीनियम का बना होता है। लीकेज को रोकने के लिए सिलिंडर तथा हैड के बीच में एक गैसकेट लगा रहता है. सिलिंडर हैड को खोलकर इसके अंदर तथा पिस्टन के हैड पर जमा कार्बन साफ कर सकते हैं।

कम्बशन चैम्बर मैकेनिज्म, इंजेक्टर की स्थिति पर सिलिंडर हेड का डिजाईन निर्भर करता है सिलिंडर हेड अलग न होकर सिलिंडर ब्लॉक के साथ भी Cast हो सकती है जिसे मोनो ब्लॉक सिलिंडर कहते हैं। यह छोटे इंजनों में होता है। सिलिंडर हैड एल्यूमीनियम एलॉय तथा कास्ट आयरन का बनाया जाता है।

सिलिंडर हैड मैटीरियल (Cylinder Head Material) –

सिलिंडर हैड साधारणतया ग्रे कास्ट आयरन के बनाए जाते हैं। जिसमें Iron-95%, Carbon- 2.2% Silicon – 12%, Manganese 0.63% Sulphur 0.12% or Phosphorus 0.85% होते हैं।

ये वजन में भारी होते हैं और अधिकतर बड़ी गाड़ियों के इंजन में लगे होते हैं परंतु आजकल एल्यूमीनियम एलॉय के सिलिंडर हैड बनाते हैं क्योंकि ये बजन में हल्के होते हैं और इनकी ऊष्मा सुचालकता कॉस्ट आयरन की तुलना में कई गुना अधिक होती है। एल्यूमीनियम एलॉय में Aluminium 91% Copper 7% तथा Tin 2% होती है।

एल्यूमीनियम एलॉय का सिलिंडर तथा हैड बनाने के लाभ (Advantages of Making Cylinder Head of Aluminium Alloy) –

  1. कास्ट आयरन की तुलना में इनकी ऊष्मा सुचालकता करीब तीन गुना अधिक होती है।
  2. भार में हल्के होते हैं।
  3. अधिक ऊष्मा सुचालक होने के कारण बिना डिटोनेशन के कम्प्रेशन रेशो बढ़ाया जा सकता है।
  4. इंजन चलते समय कूलिंग अच्छा होता है।
  5. अधिक कम्प्रेशन रेशो तथा अधिक कूलिंग इंजैक्ट के कारण पावर आऊट पुट अधिक तथा फ्यूल कम खर्च होता है।
  6. इंजन जल्दी गर्म हो जाता है तथा छोटे एडिएटर की आवश्यकता होती है।

एल्यूमीनियम एलॉय का सिलिंडर हैड बनाने की हानियाँ (Disadvantages of Making Cylinder Head of Aluminium Alloy) –

  1. एल्यूमीनियम एलॉय महंगा होने के कारण इंजन की कीमत अधिक होती है।
  2. मुलायम धातु होने के कारण कसते समय इसकी आकृति विकृत हो सकती है।
  3. इसका उष्मा विस्तार अधिक होने के कारण पिस्टन तथा सिलिंडर के बीच अधिक अवकाश (Clearance) रखना पड़ता है।
  4. स्टील के स्टड तथा एल्यूमीनियम में इंटर-पेटलिक जंग लग जाती है। जिससे पिटलिंडर हैड को खोलने में परेशानी हो सकती है।

सिलिंडर हैड डिजाइन (Cylinder Head Design)

छोटे एयरकूल्ड इंजनों, जैसे स्कूटर या मोटर साइकिलों में, सिलिंडर को ठंडा रखने के लिए सिलिंडर हेड के ऊपर फिन्स (Fins) लगाये जाते हैं। सिलिंडर हैड इंजन ब्लॉक को सिलिंडर हैड गैसकिट की सहायता से सील कर देता है ताकि एग्जॉस्ट गैसें लीक न हों।

कई प्रकार के हैडों में कम्बस्शन चैम्बर इस ढंग से बनाया जाता है ताकि मिक्सचर अच्छी तरह घुलमिल सके या स्वरलिंग एक्शन प्राप्त कर सके जिससे कम्बस्शन पूरा हो ।

ओवरहाल करते समय वॉल्व सीट्स, गाइडस का चैक करना बहुत आवश्यक है इसके अतिरिक्त जब गर्म इंजन में ठंडा पानी डाल देते हैं तो सिलिंडर हैड में क्रैंक पड़ जाते है। इसलिए यह आवश्यक है कि सिलिंडर में लगे सभी पानी के रास्तों को सील कर दिया जाये और फिर उसमें पानी का प्रेशर बनाकर क्रैंक चैक करें। इसके अतिरिक्त कई बार सिलिंडर हैड में टेढ़ापन आ जाता है।

उसको चैक करने के लिए एक सीधे फुटे के साथ फीलर गेज से उसका सीधापन चैक करें जैसाकि चित्र 5 में दिखाया गया है। यह कम से कम 6 स्थानों पर चैक करें जैसाकि चित्र के साइड वाले भाग में दिखाया गया है। फुटे और हेड के बीच में 0.05 मि.मी. की फीलर गेज नहीं जानी चाहिये। अगर फीलर गेज जाती है तो सिलिंडर हैड को सिलिंडर हैड ग्राईंडिंग मशीन पर ग्राइंड करायें। ऐसी सावधानी न रखने पर सिलिंडर हैड गैसकिट बार-बार जल जायेगा।

निष्कर्ष –

मैं आशा करता हूँ कि आपने मेरा यह आर्टिकल अच्छे से पढ़ा होगा और यह समझ लिया होगा कि Cylinder Head | सिलिंडर हैड क्या है?अगर आपको मेरा यह Article Helpful लगा हो तो इसे जरूरतमंद लोगों के साथ Share कीजिये तथा अगर इस Article में आपको कोई बात समझ न आयी हो तो आप Comment कर सकते हो।

इन्हे भी पढे –

Leave a Comment