Difference Between Petrol And Diesel Engine | पेट्रोल इंजन और डीजल इंजन में अंतर क्या है

नमस्कार दोस्तो स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट todayenginner.com पर । इस पोस्ट के माध्यम से में आपको पेट्रोल और डीजल इंजन के बीच मुख्य अंतर स्पष्ट करुंगा । इसे पढ़ने के बाद आपके सभी प्रोब्लम सॉल्व हो जाएंगे।

Difference Between Petrol And Diesel Engine

पेट्रोल इंजन ( PETROL ENGINE )डीजल इंजन ( DIESEL ENGINE )
1. पेट्रोल ईंधन से चलता है।1. डीजल ईंधन से चलता है।
2. फ्यूल कंजम्प्शन ज्यादा होती है।2. फ्यूल कंजम्प्शन कम होती है।
3. इंजन वजन में हल्का होता है।3. इंजन का वजन भारी होता है।;
4. इलैक्ट्रिकल सिस्टम को रेगूलर मेन्टिनेंस चाहिए क्योंकि इसे इग्नीशन सिस्टम चलाना होता है।4. इलेक्ट्रिकल सिस्टम में ज्यादा मेन्टिनेंस की जरूरत नहीं है।
5. स्पार्क प्लग कुछ हजार कि.मी. बाद बदलने पड़ते हैं।5. इसमें स्पार्क प्लग नहीं लगते हैं।
6. इंजन जल्दी ओवरहॉल करना पड़ता है।6. काफी कि.मी. चलने के बाद इंजन ओवरहॉल करना पड़ता है। ओवरहॉल के समय स्पेयर पार्टस् की कीमत काफी अधिक होती है।
7. इंजन ओवरहॉल के समय स्पेयर पार्ट्स की कीमत कम होती है।7. ओवरहॉल के समय स्पेयर पार्टस् की कीमत काफी अधिक होती है।
8. लो इंजन टॉर्क होने के कारण ट्रांसमिशन ज्यादा मजबूत नहीं बनानी पड़ती।8. इंजन टॉर्क ज्यादा होने के कारण गियर बॉक्स डिफ्रेंशियल ज्यादा मजबूत और बड़ी कैपसिटी के बनाने पड़ते हैं।
9. इंजन ठण्डा होने पर या सर्दियों में भी जल्दी स्टार्ट हो जाता है।9. इंजन ठण्डा होने पर या सर्दियों में देर से स्टार्ट होता है। उसे हीटर प्लग की आवश्यकता पड़ती है।
10. स्टाटिंग टॉर्क कम होने के कारण छोटी बैट्री की जरूरत पड़ती है।10. स्टाटिंग टॉर्क ज्यादा होने के कारण बड़ी बैट्री की आवश्यकता पड़ती है।
11. पैट्रोल महँगा होने के कारण रनिंग कॉस्ट ज्यादा होती है।11. डीजल सस्ता होने के कारण रनिंग कॉस्ट कम होती ।
12. इंजन के चलते समय वाईब्रेशन्स नहीं होती।12. इंजन के चलते समय काफी वाईब्रेशन होती है।
13. चेसिस इतनी मजबूत नहीं होती क्योंकि इंजन आराम से चलता है और भार कम होता है।13. भार और वाईब्रेशन ज्यादा होने के कारण चेसिस मजबूत बनानी पड़ती हैं।
14. पेट्रोल इंजन कम पोलूशन करते हैं।14. डीजल इंजन ज्यादा पोलूशन करते हैं।
15. रेडियेटर आदि छोटे होते हैं।15. रेडियेटर काफी बड़े लगाने पड़ते हैं क्योंकि इंजन काफी गर्म चलता है।

FAQ –

Q: डीजल इंजन का आविष्कार किस इंजीनियर ने किया था?

Ans: डीजल इंजन का आविष्कार जर्मन इंजीनीनियर डॉ. रूडोल्फ डीज़ल (Dr. Rudolf Diesel) ने किया था।

Q: डीजल इंजन की बनावट पैट्रोल इंजन से किस प्रकार भिन्न हैं?

Ans: डीज़ल इंजन की बनावट पैट्रोल इंजन की बनावट की तरह ही होती है, फर्क सिर्फ इतना है कि ये वजन में भारी होते हैं और फ्यूल की सप्लाई करने के लिए कार्बुरेटर की जगह पर इंजैक्शन पम्प और इंजैक्टर लगे रहते हैं।

Q: डीजल इंजन में पेट्रोल डालने से क्या होगा?

Ans: जब पेट्रोल को डीजल में मिलाया जाता है तो ये इसके लुब्रिकेशन के गुणों को कम कर देता है और जब आपस में एक पार्ट दूसरे पार्ट से मिलेंगे तो वो फ्यूल पंप को नुकसान पहुंचा सकता है । जिसकी वजह से दूसरे फ्यूल सिस्टम को भी हानि होगी ।

Q: पेट्रोल और डीजल में कौन ज्यादा माइलेज देता है?

Ans: डीजल इंजन के वाहन पेट्रोल इंजन से ज्यादा माइलेज देती है । डीजल इंजन को स्पार्क प्लग की आवश्कता नही होती और इस प्रकार हाई कंप्रेशन होता है । यह पेट्रोल इंजन की तुलना में डीजल इंजन को अधिक इंजन का उपयोग करता है।

इन्हे भी पढे –

Leave a Comment